6 best yoga for better sleep hindi

योग ध्यान क्रिया  है जो शारीरिक व्यायाम के साथ सावधानी और केंद्रित श्वास को जोड़ता है। यह प्रथा 3,000 साल पहले शुरू हुई और भारतीय दर्शन पर आधारित है योग के स्वास्थ्य पर कई सकारात्मक प्रभाव हो सकते हैं  जिसमें मानसिक और भावनात्मक स्वास्थ्य और तनाव में सुधार, कुछ प्रकार के दर्द से राहत, वजन में कमी और बेहतर नींद शामिल है। यह लेख योग और बेहतर नींद के बीच संबंध पर केंद्रित है। आसन आपके शारीरिक और मानसिक स्थिति को शांति प्रदान करते हैं और नींद को सुधारने में मदद करते हैं। नीचे कुछ योग आसनों का उल्लेख है:

There are some best yoga for better sleep hindi

1. शवासन (Shavasana):

शवासन (Shavasana) एक बहुत ही शांतिपूर्ण और आरामदायक योगिक प्राणायाम है जो शारीरिक और मानसिक तनाव को कम करने में मदद कर सकता है शवासन को नींद के लिए रोजाना करने से आपकी नींद की गुणवत्ता में सुधार हो सकता है और आपका मानसिक चिंता कम हो सकता है। यह आसन रोजाना किया जा सकता है, खासकर रात को सोने से पहले। ध्यान रखें कि शवासन को खाली पेट करना अधिक लाभकारी होता है। लेकिन यदि आपके पास वक्त नहीं है, तो आप इसे दिनभर किसी भी समय कर सकते हैं

2. बालासन (Balasana):

बालासन को रोजाना करने से आपकी नींद की गुणवत्ता में सुधार हो सकता है और आपका मानसिक चिंता कम हो सकता है। यह आसन खाली पेट करना अधिक लाभकारी होता है। लेकिन अगर आपके पास वक्त नहीं है, तो आप इसे दिनभर किसी भी समय कर सकते हैं, बस स्थिति को ध्यान में लें कि आपका पेट खाली होना चाहिए। ध्यान दें कि आप इसे नींद के लिए करते हैं, तो आपको धीरे और शांत आसन में रहने की कोशिश करनी चाहिए।

3. भ्रामरी प्राणायाम (Bhramari Pranayama):

भ्रामरी प्राणायाम रोजाना करने से मानसिक चिंता को कम कर सकती है। यह आसान तकनीक है जिसमें आपको श्वास को संधित करने के लिए मूख को बंद करके नाक के माध्यम से स्वर उत्पन्न करना होता है। इस प्राणायाम को ध्यान से और धीरे से करने से नींद की समस्याओं को दूर किया जा सकता है।

4. अनुलोम विलोम (  Anulom Vilom):

अनुलोम विलोम प्राणायाम करने से श्वास धीरे और समान होता है, जो मानसिक चिंता को कम करने और शारीरिक और मानसिक संतुलन को सुधारने में मदद करता है। यह आसन रात को सोने से पहले किया जा सकता है ताकि आपकी मानसिक चिंता कम हो और आप अधिक आराम से सो सकें। लेकिन, किसी भी नई व्यायाम या प्राणायाम की शुरुआत से पहले, एक योग गुरु से परामर्श लेना उपयुक्त होगा।

5. उत्तानासन (Uttanasana):

उत्तानासन (Uttanasana) एक प्राणायाम है जो शारीरिक और मानसिक तनाव को कम करने में मदद कर सकता है और नींद की गुणवत्ता में सुधार कर सकता है। यह आसन शारीरिक रूप से विश्रामदायक होता है, इस आसन से शरीर की थकान और तनाव को कम किया जा सकता है, जिससे नींद में सुधार होता है।

6. सुखासन (Sukhasana):

सुखासन (Sukhasana) एक आसान और आरामदायक पोज़ है जो मानसिक चिंता को कम करने में मदद कर सकता है और नींद की गुणवत्ता में सुधार कर सकता है। इस आसन को बैठक के रूप में किया जाता है और यह शांति और शांति प्रदान करता है। यह आसन में ध्यान और श्वासायाम प्रशिक्षण किया जा सकता है, जिससे नींद की समस्याओं को दूर किया जा सकता है।

योग आसनों को नींद से पहले करने से पहले ध्यान और शांति के साथ करें, और नींद की क्षमता को बढ़ाने के लिए नियमित रूप से प्रैक्टिस करें। परन्तु, इन योग आसनों का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक या योग गुरु से सलाह लेना बेहतर होगा।

FAQ

क्या योग के साथ प्राणायाम करना नींद के लिए मददगार हो सकता है?

हां, कुछ प्राणायाम जैसे कि भ्रामरी प्राणायाम, बालासन, सुखासन , शवासन, उत्तानासन और अनुलोम विलोम प्राणायाम नींद को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं।

योग से नींद की गुणवत्ता में कैसे सुधार हो सकता है?

योग ध्यान और आसनों के माध्यम से तनाव को कम करता है और शारीरिक और मानसिक संतुलन को सुधारता है, जो नींद की गुणवत्ता में सुधार कर सकता है।

 नींद की गुणवत्ता में सुधार के लिए योग कब करना चाहिए?

योग को शाम को, खासकर सोने से पहले करना लाभकारी हो सकता है। ध्यान और आसनों का अभ्यास रात्रि को आरामदायक नींद के लिए मदद कर सकता है।

अन्य पढ़े

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *